वीरागंना रानी अवंती बाई का बलिदान सदैव स्मरणीय :मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान


 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि रानी अवंती बाई का बलिदान देशवासियों को देशभक्ति और परमार्थ के लिए जीवन जीने  की प्रेरणा देता रहेगा। रानी अवंती बाई ने 20 मार्च 1858 में अंग्रेजो से वीरतापूर्वक लड़ते हुये स्वतंत्रता और स्वाभिमान की रक्षा के लिये आत्मोसर्ग किया था। मुख्यमंत्री ने  प्रदेशवासियो की ओर से शहीद रानी की समाधि पर श्रृद्धा सुमन अर्पित किये। 
    मुख्यमंत्री श्री चौहान वीरागंना रानी अवंती बाई लोधी के बलिदान दिवस समारोह में उपस्थित जन समुदाय को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने शहीद स्थल पर पुष्पांजलि अर्पित कर रानी अवंती बाई की प्रतिमा का अनावरण किया। इस अवसर पर आदिम जाति कल्याण मंत्री कुंवर विजय शाह ,पंचायत एवं ग्रामीण विकास राज्यमंत्री देवसिंह सैयाम मौजूद थे। समारोह की अध्यक्षता सांसद छत्रपाल सिंह ने की। राज्य सभा सदस्य फग्गन सिंह कुलस्ते,एवं विधायक गण भी उपस्थित थे। 
     मुख्यमंत्री ने कहा कि रानी के शहीद स्थल पर प्रतिवर्ष समारोह का आयोजन होगा। शहीद स्थल का विकास होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास में सभी स्वतंत्रता संग्राम सैनानियों के अविस्मरणीय योगदान का उल्लेख करने का प्रयास किया जा रहा है। 

पूर्ण चित्र देखने क्लिक कीजिये
“पूर्णचित्र”

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश तेजी से प्रगति कर रहा है। प्रदेश की कृषि विकासदर 18 प्रतिशत से अधिक है। सभी ग्रामों में मई जून से 24 घंटे घरेलू विद्युत आपूर्ति होने लगेगी। उन्होंने कहा कि डिंडोरी के ग्रामीण इलाकों में 24 घंटे विद्युत प्रदाय का शुभारंभ करने वे पुनः यहॉ आयेंगे। 
    मुख्यमंत्री ने कहा राज्य शासन ने कृषि को लाभ का व्यवसाय बनाने, किसानों की सर्वांगीण उन्नति , अधोसंरचना विकास , गरीब के जीवन को सरल बनाकर उसे आगे वढ़ने का अवसर देने और युवाओं को स्वरोजगार में स्थापित करने की दिशा में विशेष ध्यान दिया है। 
    मुख्यमंत्री ने कहा ग्रामीण अंचल में 24 घंटे बिजली मिलने पर इस सुविधा का उपयोग प्रकाश के साथ स्वरोजगार के विस्तार में किया जाना चाहिए। गॉव-गॉव में लघु कुटीर उद्योग स्थापित होने चाहिए। एक अप्रेल से मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना शुरू होगी। जिसमें युवाओं को 25 लाख रूपये तक स्वरोजगार के लिए ऋण मिलेगा जिसकी गारंटी प्रदेश सरकार लेगी। राज्य सरकार प्रगतिशील -विकसित ग्रामों के लिए कृत संकल्पित है। ख्य मंत्री ने कहा गरीबों की महापंचायत बुलाई जायेगी। राज्य सरकार शीघ्र ही ऐसी योजना पर अमल करेगी जिससे गरीब परिवार भोजन की चिंता से पूरी तरह मुक्त हो जायेगा। उन्होंने कहा कि जो भी गरीब एवं आदिवासी परिवार जिस भूमि पर आवास बनाकर निवास कर रहा है उसे उस भूमि का आवासीय पट्टा दिया जायेगा। राज्य सरकार आदिवासियों के विकास और खुशहाली के लिए कोई कोर कसर नहीं रखेगी।

डिंडोरी को मिली सौगातें

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि  बालपुर में सर्व सुविधा युक्त मंगलभवन का निर्माण कराया जायेगा  और शहीद स्थल को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित कर इसे पर्यटन स्थल घोषित कराने की कार्रवाई की जायेगी। शहीद स्थल में पर्यावरणीय वन विकसित कर उसे वीरांगना अवंती बाई वन का नाम दिया जायेगा। शाहपुर एवं बालपुर के बीच शहीद स्थल जाने  वाले मार्ग पर तोरण द्वार बनाने की घोषणा  के साथ बालपुर से रामगढ़ के बीच सड़क निर्माण को सप्लीमेंटरी बजट में शामिल किये जाने का आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि डिण्डौरी में स्थापित प्रतिमा का अनावरण निकट भविष्य में अटल ज्योति अभियान के शुभारंभ अवसर पर  किया जायेगा। मुख्यमंत्री  ने जिला प्रशासन द्वारा आयोजित लोककल्याण शिविर में किसानों को निशुल्क खसरे नक्षे की नकल के साथ ऋण पुस्तिका प्रदाय करने की व्यवस्था करने की निर्देश देते हुये किसानो से अपील की कि वे अपने अभिलेख साथ में लेकर जायें। 
दोपहर मुख्यमंत्री के हैलीपेड पॅहुचने पर आदिम जाति कल्याण  मंत्री श्री विजय शाह, जिले के प्रभारी मंत्री देव सिंह सैयाम, खनिज विकास निगम के पूर्व अध्यक्ष एवं लोधी क्षत्रिय सभा के संयोजक कोक सिंह नरवरिया, जिला पंचायत अध्यक्ष ओमप्रकाश धुर्वे जिला पंचायत मंडला की अध्यक्ष  श्रीमती सम्पतिया उइके, सहित जनप्रतिनिधियों , कलेक्टर मदन कुमार , पुलिस अधीक्षक मनोहर सिंह ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया। हैलीपेड से मुख्यमंत्री सीधे समाधि स्थल पॅहुचकर  वीरागंना की समाधि में पुष्पचक्र अर्पित कर उनकी प्रतिमा का अनावरण किया।

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s